जमशेदपुरः ईसाई समाज की चंगाई सभा के दौरान भारी बवाल, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

पुलिस काफी देर तक दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास करती रही
पुलिस काफी देर तक दोनों पक्षों को समझाने का प्रयास करती रही

जमशेदपुर : गोलमुरी में ईसाई समाज की चंगाई सभा को लेकर रविवार को जमकर हंगामा हुआ । विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के लोग धर्म परिवर्तन का आरोप लगाकर सभा बंद कराने की मांग कर रहे थे । दोनों ओर से मारपीट की नौबत आ गई। जमकर नारेबाजी की गई । अंत में कई थानों की फोर्स और की पार्टी को लाठीचार्ज करना पड़ा । लाठीचार्ज के बाद ही हंगामा कर रहे लोग भाग खड़े हुए और व्यवस्था शांत हुई बाद में पुलिस ने चंगाई सभा को बंद करा दिया।

क्रिश्चियन की चंगाई सभा गोलमुरी के नानक नगर में रविवार की सुबह से ही चल रही थी। 10:00 बजे से यह सभा शुरू हो गई थी। इसके लिए सभा स्थल पर पोस्टर भी लगाए गए थे। यह सभा एक घर के अंदर चल रही थी। इस सभा का नाम अभिषेक की प्रार्थना रखा गया था। इस सभा के आयोजन कर्ता रवि सिंह मिनिस्ट्रीज थे।

यह सभा ईसाई समाज के लोगों को बंधनों, क्लेश और बीमारियों से छुटकारे के लिए आयोजित की गई थी। लेकिन, इस सभा की जानकारी जैसे ही बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के लोगों को हुई। उन्होंने इसका विरोध शुरू कर दिया। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के लोगों का आरोप है कि इस चंगाई सभा के आड़ में ईसाई समाज के लोग धर्म परिवर्तन कर रहे हैं। जबकि ईसाई समाज के लोगों का कहना है कि ऐसा कुछ नहीं है उनकी सभा में वही लोग आते हैं जो ईसाई हैं।

विश्व हिंदू परिषद के लोगों ने कुछ स्थानीय लोगों के साथ मिलकर पोस्टर और बैनर फाड़ दिए और पोस्टर बैनर को आग लगा दी थी। घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस पहुंची तो बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को आगे बढ़ने से रोक दिया। पुलिस के अधिकारी भी पहुंच गए थे। चंगाई सभा चल रही थी। सभा बंद कराने को लेकर जोरदार हंगामा शुरू हुआ। बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने जमीन पर बैठकर हनुमान चालीसा शुरू कर दिया। अधिकारी उन्हें शांत करने की अपील कर रहे थे लेकिन कोई शांत नहीं हो रहा था ।

हर तरफ हंगामा चल रहा था। जेएनएसी के सिटी मैनेजर रवि भारतीय ने माइक के जरिए लोगों को शांत रहने की अपील लगातार कर रहे थे। कई घंटे की रस्साकशी के बाद पुलिस ने ईसाई समाज के लोगों से बात कर चंगाई सभा बंद कराई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.