निशिथ केसरी के ठिकानों पर छापेमारी में मिले अहम दस्तावेज

एक बड़े आइएएस अधिकारी का नजदीकी है निशिथ केसरी
एक बड़े आइएएस अधिकारी का नजदीकी है निशिथ केसरी

रांची मनी लाउंड्रिंग से जुड़े अधिकारी पूजा सिंघल प्रकरण में प्रवर्तन निदेशालय की टीम ने मंगलवार को रांची और बिहार के मुजफ्फरपुर में छापेमारी की. बुधवार को सुबह 6.45 बजे एनके कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के निशिथ केशरी और फ्रंट ग्लोबल सर्विसेज (एफजीएस) के विशाल चौधरी के ठिकानों पर छापा मारा गया. वहीं, दूसरी ओर विशाल चौधरी को देर शाम हिरासत में ले लिया गया. इस दौरान करोड़ों के लेन-देन के दस्तावेज जब्त किये गये. फिलहाल लेन-देन में शामिल लोगों की जानकारी नहीं मिल सकी है. छापेमारी में नकद मिलने की सूचना है. केशरी राज्य के एक आइएएस अधिकारी के रिश्तेदार बताये जाते हैं, जबकि चौधरी को राज्य के बड़े आइएएस अफसरों का करीबी बताया जाता है. निशिथ केशरी की कंपनी में एक राजनीतिक व्यक्ति के पार्टनर होने की सूचना है.

निशिथ की कंपनी एनके कंस्ट्रक्शन के कार्यालय पर छापा
आइएएस पूजा सिंघल व अन्य की मनी लाउंड्रिंग मामले में जारी जांच के दौरान इडी ने मंगलवार को चौथी बार छापेमारी की. पहली बार पूजा सिंघल एवं उनसे संबंधित लोगों के ठिकानों पर, दूसरी बार कोलकाता के बिल्डर अभिजीत कंस्ट्रक्शन और तीसरी बार रांची के पंचवटी बिल्डर्स के ठिकानों पर छापेमारी हुई थी. इडी ने मंगलवार को विशाल चौधरी के अशोक नगर स्थित किराये के मकान और मुजफ्फरपुर के ठिकानों पर छापा मारा. इसके बाद एनके कंस्ट्रक्शन के निशिथ केशरी के ओक फॉरेस्ट स्थित कार्यालय पर छापा मारा.

विशाल के घर से मिले लेन-देने के दस्तावेज
विशाल चौधरी के घर से करोड़ों के लेन-देन से संबंधित दस्तावेज मिले हैं. विशाल एफजीएस नामक ट्रस्ट के माध्यम से शिक्षा और स्किल डेवलपमेंट का काम करता है. एफजीएस का कार्यालय अरगोड़ा चौक स्थित आइडीबीआइ बैंक के पास है. उसकी यह संस्था नेशनल स्किल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन से सर्टिफाइड है.

बड़े अधिकारियों से संबंध
विशाल करीब सात कंपनियों में निदेशक है. राज्य के बड़े अधिकारियों से मधुर संबंध होने से उसका कई विभागों में दबदबा है. निशिथ केशरी की गणना राज्य के बड़े बिल्डरों में होती है. छापेमारी में उसके ठिकानों से व्यापारिक गतिविधियों से संबंधित दस्तावेज जब्त हुए हैं. इसमें करोड़ों के लेन-देन का ब्योरा है. निशिथ की कंपनी की कई महंगी अावासीय और व्यावसायिक परियोजनाएं हैं. इन परियोजनाओं में पुनदाग रोड स्थित ‘ओक फॉरेस्ट’, अशोक विहार स्थित ओक इंक्लेव, पुनदाग रोड स्थित पॉल्म, आइएसएम चौक स्थित पॉल्म एलिगेंस, रातू रोड स्थित पोद्दार इंक्लेव, हिनू स्थित सिल्वर फर्न्स, अरगोड़ा चौक स्थित सिद्धार्थ इंक्लेव और वर्द्धमान कंपाउंड स्थित ज्योति प्लाजा शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.