बुढ़मू क्षेत्र के छापर पंचायत के दामोदर नदी से अवैध बालू का उठाव जारी

बेरोकटोक जारी है अवैध बालू का उत्खनन
बेरोकटोक जारी है अवैध बालू का उत्खनन

बुढ़मू : रांची जिले के बुढ़मू प्रखंड क्षेत्र के छापर पंचायत से होकर बहने वाली दामोदर नदी से अवैध बालू का उठाव का एक बार फिर से जारी है, माफियाओं के द्वारा अवैध बालू का उठाव लगातर किया जा रहा है, इन दिनों दिन और रात बालू का उठाव किया जा रहा है। शाम होते ही दर्जनों हाईवा और ट्रैक्टर में बालू का उठाव कर शहरों में बालू की बिक्री की जा रही है।

सूत्रो से मिली जानकारी के अनुसार बताया जाता है कि एक बालू माफिया व ठेकेदार के द्वारा गुमला से बालू उठाव करके छापर का स्टॉक वार्ड दिखाया जा रहा है और छापर से अवैध बालू उठाव करके प्रतिदिन रांची सहित कई जगहो पर भेजा जा रहा है। जबकि दूसरे बालू माफिया के बारे मे सूत्रो ने बताया कि रामगढ़ जिले का चलान को रांची के छापर बालू घाट मे चलान का इस्तेमाल कर रहा है, इस तरह अवैध कारोबार चल रहा है। बताते चले कि छापर दामोदर नदी बालू घाट से दर्जनो हाईवा से अवैध बालू ओवर लोड लादकर रात्रि मे बुढ़मू प्रखंड क्षेत्र से बाहर व दूसरे जगह व जिले से बाहर भेजा जा रहा है । ग्रामीणो द्वारा ओवर लोड बालू हाईवा व ट्रैक्टरो द्वारा लाने को लेकर कई बार मना भी किया गया है और रास्ते पर तेज रफ्तार गाड़ी नही चलाने की सलाह दी गई है, कई बार तो ओवर लोड बालू ले जाने के दौरान कई लोगो को रौंदते हुए वाहन बच्चा देता है और कई लोगो को तो वाहन धक्का देते हुए निकल जाता है।

वही ओवर लोड वाहन के कारण कई घटना भी घट चुकी है और बड़ी घटना घटने से टल गई है, फिर भी लोग नही मान रहे है। बुढ़मू के छापर मे अवैध बालू का कारोबार कई माह से लगातार जारी है। छापर नदी बालू घाट के अवैध बालू कारोबार मे स्थानीय जनप्रतिनिधि व रातू और रांची के ठेकेदार शामिल है।

जानकारी के अनुसार अवैध बालू कारोबार मे दो बड़े – बड़े माफिया, ठेकेदार शामिल है। साथ ही बताया जा रहा है कि ठेकेदार स्थानीय जनप्रतिनिधियो सहित कई विभाग के लोगो को पैसे देकर मैनेज करके चला रहे है और अवैध तरीके से बालू का उठाव करके बेच रहे है। वही कई अन्य लोग भी अवैध कारोबार मे शामिल है । इस मामले पर खनन विभाग व विभाग के पदाधिकारी कोई करवाई नही कर रहे है और सभी विभाग के लोग चुप्पी साधे हुए है ।

अवैध बालू कारोबार मे शामिल ठेकेदारो ने अवैध बालू की खबर को मीडिया मे प्रकाशित नही करने की बात कही है, वही बालू माफिया द्वारा पत्रकार को सच्चाई खबर की उजागर करने को लेकर धमकाया गया है। साथ ही कई ठेकेदार नाम के साथ खबर नही प्रकाशित करने की बात कही है। आखिर अवैध कारोबार किसके इशारे पर चल रहा है और कौन – कौन लोग शामिल है , यह भी एक बड़ा सवाल है। अवैध बालू की जांच करने पर कौन ठेकेदार रातू का है और कौन ठेकेदार रांची का है व किसका कितना गाड़ी चलता है एवं कौन कौन अवैध बालू कारोबार मे शामिल है, सारी बात स्पष्ट हो जाएगी।

बुढ़मू प्रखंड के ग्रामीणो ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि अवैध बालू कारोबार को तत्काल रोका जाए और खबर को मीडिया के माध्यम से जल्द झारखंड सरकार तक पहुंचा कर रुकवाने की मांग की है। साथ ही ग्रामीणो ने सरकार से अविलंब देखकर ठेकेदार के प्रति अधिकारियो से जांच कराकर कानूनी करवाई करने की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.