अवैध कोयला कारोबारियों के हौसले बुलंद, रात भर हो रही कोयले की ढुलाई

हजारीबाग: जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्र केरेड़ारी में अवैध कोयला का कारोबार धड़ल्ले से जारी है. जिले के बारियातू कंडाबेर, मनातू के पडरा और लाजीदाग के जंगल क्षेत्र से अवैध कोयले की रातभर ढुलाई हो रही है. अवैध कोयला ट्रैक्टरों में भरकर सुदूरवर्ती गांव के ईंट्ट भट्ठों तक बढ़ी आसानी से पहुंचाया जा रहा है. इस कारोबार में कोयला ढुलाई के लिए दर्जनों ट्रैक्टर लगे हुए है.

जानकारी के अनुसार केरेड़ारी थाना क्षेत्र के कंडाबेर बारियातू जंगल, लाजीदाग के पोखरिया खदान और मनातू के धमधमीया जंगल में खदान बनाकर कोल माफिया अवैध कोयला का कारोबार करते हैं. एक गाड़ी कोयले की कीमत 5000 से 6000 रुपये ली जाती है. मनातू और लाजीदाग में कोयला ढुलाई के लिए प्रत्येक दिन 20 से 30 ट्रैक्टर लगा रहता है. कोयला कारोबारी घने जंगल और रात का लाभ उठाते हैं. दिनभर मजदूरों से कोयला खनन कर रात भर वाहनों से ढुलाई करते हैं.

अवैध कोयला तस्करी होने की गुप्त सूचना पर अवैध कोयला खदानों में 8 मई को केरेडारी पुलिस द्वारा डोजरिंग किया गया. हालांकि डोजरिंग अभियान के दौरान कोयला कारोबारी की गिरफ़्तारी नहीं हुई. कोयला खदानों के डोजरिंग में थाना प्रभारी समेत कई पुलिस कर्मी मौजूद थे. खदानों में डोजरिंग होने के बावजूद कंडाबेर जंगलों में 100 टन से अधिक कोयला डंप किया हुआ है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Verified by MonsterInsights