लोहरदगा के पेशरार में आईडी ब्लास्ट, दो जवान घायल, सीआरपीएफ ने पूरे जंगल को घेरा

घायल जवानों को ग्रीन कोरिडोर बनाकर खेलगांव से मेदांता लाया गया
घायल जवानों को ग्रीन कोरिडोर बनाकर खेलगांव से मेडिका लाया गया

उज्ज्वल दुनिया/ गौतम लेनिन

लोहरदगा । झारखंड के लोहरदगा में सर्च अभियान के दौरान हुए आईईडी विस्फोट से दो सीआरपीएफ जवान घायल हो गए। सुदूरवर्ती नक्सल प्रभावित पेशरार थाना क्षेत्र के बुलबुल जंगल में नक्सल विरोधी अभियान के दौरान शुक्रवार की सुबह घटना हुई।

घायल जवान सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन के हैं। जवानों को इलाज के लिए हेलीकाप्टर से रांची लाया गया। खेलगांव में जवानों को उतार कर प्राथमिक इलाज के लिए मेडिका अस्पताल भेज दिया गया।

घायल जवानों की पहचान दिलीप कुमार और नारायण दास के रूप में हुई है। जवानों को अस्पताल तक पहुंचाने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया। एंबुलेंस घायल जवानों को लेकर बिना किसी व्यवधान के अस्पताल पहुंची। जवानों को देखने के लिए झारखंड के डीजीपी नीरज सिन्हा, एडीजी संजय आनंद लाटकर सहित कई अधिकारी अस्पताल गए थे।

400 जवानों ने बुलबुल जंगल को घेरा

पुलिस ने भाकपा माओवादी के रीजनल कमांडर 15 लाख के इनामी रवींद्र गंझू व उसके दस्ते को घेरने के लिए गुमला व लोहरदगा के सीमावर्ती जंगल में घेराबंदी शुरू कर दी है । सूत्रों के अनुसार, 400 से अधिक पुलिसकर्मी व सुरक्षाबल जंगल में घुसे हैं । अभी भी सुरक्षा बल जंगल में हैं और नक्सलियों की तलाश कर रहे हैं । शाम ढलने के बाद शुक्रवार को सुरक्षा बलों ने ऑपरेशन रोककर जंगल में ही जमे हुए हैं ।

माओवादियों द्वारा बिहड़ जंगलों में खुद को सुरक्षित एवं पुलिस को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से कई जगहों पर जंगल में आइइडी बम बिछाकर छोड़ दिया है । जिस कारण पुलिस को अभियान चलाने में भी बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है । हर एक कदम फूंक-फूंक कर जवानों को चलना पड़ रहा है ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.