संन्यासी बनकर पहुंचा 22 सालों से गायब पति, बिलखकर रोने लगी पत्नी

गढ़वा (उज्ज्वल दुनिया)। कांडी थाना क्षेत्र के सेमौरा गांव में 22 वर्ष बीत जाने के बाद कल अचानक हाथ में सारंगी लिए उदय साव जोगी के वेश में पैतृक आवास पहुंचा। वह अपनी पहचान छिपाते हुए पत्नी से भीक्षा लेने के लिए दरवाजे पर पहुंचकर बाबा गोरखनाथ का भजन गाने लगा। जोगी के वेश में पहुंचे उदय साव को देखते ही उसकी पत्नी पहचान गई और खोए पति को पाने के लिए बिलखकर रोने लगी।

इस दौरान जोगी बना उदय साव बार-बार अपनी पहचान छुपाता रहा। इतनी ही देर में घर व गांव के कई लोग भी वहां जमा हो गए। लोगों ने देखा कि वास्तव में यह उदय साव ही है।

अंत में उदय साव ने अपना असली परिचय बताया और अपनी पत्नी से भीक्षा देने के लिए आग्रह करने लगा। उसने कहा कि पत्नी की भीक्षा के बिना उसे सिद्धि प्राप्त नहीं हो सकती है। इसलिए भीक्षा देकर मुझे अपने कर्तव्य का पालन करने दें। हालांकि ग्रामीणों का भी कहना था कि जोगी के रूप में पहुंचा उदय अब अपने घर पर परिवार के साथ ही रहे लेकिन उसने घर-परिवार में रहने से साफ इनकार कर दिया।

यहां तक कि वह उस गांव से बाहर आकर कांडी स्थित डिग्री कॉलेज में शरण लिए हुए है। दरअसल, कांडी प्रखंड के सेमौरा गांव निवासी उदय साह 22 वर्षों पूर्व अपना पैतृक आवास छोड़कर अचानक गायब हो गया था। उसके बाद उदय साव को खोजा गया लेकिन कहीं भी उसका पता नहीं चला। पत्नी भी मान चुकी थी कि उसके पति कहीं किसी हादसे का शिकार होकर अब इस दुनिया में नहीं रहे। इस कारण वह अपने बच्चों के साथ विधवा की जिंदगी जीते हुए अकेले उनकी परवरिश कर रही थी।

उसके नाते रिश्तेदार सहित कई लोग कोशिश कर रहे हैं कि उसे जोगी रूप से मुक्ति दिलाई जाए। इसके लिए बाबा गोरखनाथ के धाम पर यज्ञ व भंडारा कराने के लिए गांव के लोग अनाज और पैसे भी एकत्रित करने में जुट गए हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com