सीआरपीएफ और जिला पुलिस के छापेमारी अभियान में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद

घाघरा थाना में पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी जानकारी
घाघरा थाना में पुलिस ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी जानकारी

गुमला । घाघरा थाने में प्रशिक्षु डीएसपी सह थाना प्रभारी प्रदीप प्रणव, एसआई अभिनव कुमार ने संयुक्त रूप से प्रेस कॉन्फ्रेंस कर गुरुवार को बताया कि प्रतिबंधित संगठन भाकपा माओवादी के उग्रवादियों द्वारा घाघरा थाना क्षेत्र के तेंदाल डूमरपाट के नजदीकी जंगलों में बंकर नुमा ढांचा बनाकर छिपाए गए विस्फोटक और उससे संबंधित सामग्री बरामद किया है।

वही प्रशिक्षु डीएसपी सह थाना प्रभारी प्रदीप प्रणव और एसआई अभिनव कुमार,सूरज कुमार ने संयुक्त रूप से जानकारी देते हुए बताया कि विगत 2 मार्च को पुलिस अधीक्षक गुमला को गुप्त सूचना मिली थी कि प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन के उग्रवादियों द्वारा घाघरा थाना क्षेत्र के तेनदार डूमरपाट के नजदीकी जंगल क्षेत्रों में सुरक्षा बलों एवं पुलिस टीम को जानमाल के नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से विस्फोटक तथा अन्य पदार्थ व सामग्री को छिपाया गया है। इस सूचना का सत्यापन एवं आवश्यक कार्रवाई करते हुए पुलिस अधीक्षक गुमला के द्वारा एक टीम का गठन किया गया जिसमें सीआरपीएफ 218, के पदाधिकारी एवं जवान गुरदरी थाना पदाधिकारी एवं जवान घाघरा थाना पदाधिकारी एवं जवान की टीम शामिल हुई। उपरोक्त टीम के द्वारा जांच पड़ताल करने पर भारी मात्रा में विस्फोटक पदार्थ बरामद हुआ जिसमें 24 पीस जिलेटिन,कोटेट सेफ्टी फ्यूज लाल एवं हरा रंग का और अमोनियम नाइट्रेट 10 केजी बरामद किया गया।

गोपनीय तरीके से पूछताछ पर पता चला कि इन विस्फोटक पदार्थों को प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन के सदस्य द्वारा कोई अप्रिय घटना को अंजाम देने के लिए छुपा कर रखा गया था इस संबंध में घाघरा थाना कांड संख्या 27/ 2022 धारा 4/5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम 1908 एवं 17 cla एक्ट दर्ज कराई गई है। वहीं प्रदीप प्रणव ने कहा कि अभियान लगातार चलाई जाएगी माओवादी संगठन के लोग सरकार के चल रहे हैं आत्म समर्पण पॉलिसी का लाभ उठाएं और संगठन को छोड़कर मुख्यधारा में लौटे। इसके पूर्व भी पुलिस को गुदरी थाना से सफलता मिल चुकी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.