पहली बार जीएसटी ने पार किया 1.5लाख करोड़ प्रति माह का आकड़ा, पिछले महीने की तुलना में 25 हजार करोड़ ज्यादा

नई दिल्ली: माल और सेवा कर (जीएसटी) संग्रह ने आर्थिक गतिविधियों में सुधार के कारण अप्रैल में 1.68 लाख करोड़ रुपये से अधिक के उच्चतम स्तर को छू लिया. इसके बाद मार्च 2022 के महीने में दर्ज किया गया ₹1.42 लाख करोड़ का दूसरा सबसे बड़ा संग्रह है. अप्रैल संग्रह मार्च की तुलना में ₹ 25,000 करोड़ अधिक है.

अप्रैल में एकत्र किया गया सकल जीएसटी ₹ 1,67,540 करोड़ है जिसमें से सीजीएसटी ₹ 33,159 करोड़, एसजीएसटी ₹ 41,793 करोड़, आईजीएसटी ₹ 81,939 करोड़ और उपकर ₹ 10,649 करोड़ है. अप्रैल 2022 के महीने का राजस्व पिछले साल के अप्रैल महीने में जीएसटी राजस्व से 20% अधिक है. इस महीने में आयात वस्तुओं से एकत्र राजस्व 30% अधिक था और घरेलू लेनदेन से एकत्रित राजस्व में 17% की वृद्धि हुई.

यह पहली बार था जब सकल जीएसटी संग्रह ने 1.5 लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा पार किया है. अप्रैल महीने के दौरान उच्चतम कर संग्रह 20 अप्रैल को देखा गया.

एक बयान में, वित्त मंत्रालय ने कहा कि “अनुपालन व्यवहार में स्पष्ट सुधार हुआ है, जो कर प्रशासन द्वारा करदाताओं को समय पर रिटर्न दाखिल करने के लिए प्रेरित करने, अनुपालन को आसान और सख्त प्रवर्तन कार्रवाई बनाने के लिए किए गए विभिन्न उपायों का परिणाम है. डेटा एनालिटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के आधार पर पहचाने गए गलत करदाताओं के खिलाफ कार्रवाई की गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.