राइट्स के महाप्रबंधक और डीजीएम हुए गिरफ्तार, सीबीआई कोर्ट में हुई पेशी

रांची: केंद्रीय जांच एजेंसी की ओर से रेल इंडिया टेक्निकल एंड इकोनोमिक सर्विस लिमिटेड (राइट्स) के महाप्रबंधक अभय कुमार सिंह, डीजीएम राजीव रंजन और हरदेव कंस्ट्रक्शन के अवतार सिंह को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया गया. इस मामले पर सीबीआइ और एसीबी की विशेष अदालत में प्राथमिकी भी दर्ज की गई है. कोर्ट ने गिरफ्तार किए गए सभी को तीन दिनों तक रीमांड पर लेने की अनुमति दी है. अब शुक्रवार शाम छह बजे से इन तीनों को सीबीआईअपनी हिरासत में ले लेगी.

रेल इंडिया टेक्निकल एंड इकोनोमिक सर्विस लिमिटेड (राइट्स) के अधिकारियों ने मांगे थे 10 लाख रुपए हरदेव कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के अवतार सिंह और उमेश मेहता के बेटे शशि की तरफ से टेंडर मैनेज करने का गंभीर आरोप लगा है. एचसीपीएल देवघर और मेहरोत्रा बिल्डकोन प्राइवेट लिमिटेड सतना को पतरातू रांची में एक काम देने की बातें कही जा रही थी. इसमें जीएम प्रोजेक्ट्स अभय कुमार, डीजीएम राजीव रंजन, एचसीपीएल के अवतार सिंह और शशि पर काम मैनेज करने का आरोप लगा है. हरदेव कंस्ट्रक्शन से जीएम और डीजीएम ने कई बार काम देने के नाम पर पैसे देने की मांग की. 19 अप्रैल 2022 को राजीव रंजन ने शशि से पांच लाख रुपये देने की मांग की.

सीबीआई की प्राथमिकी पर लिखा गया है कि शशि ने हरदेव कंस्ट्रक्शन के मालिक से पांच लाख रुपये का भुगतान करने की अनुमति भी ले ली है. 28 लाख रुपये का भुगतान शशि की तरफ से राइट्स के जीएम से की गयी. इसके बाद महाप्रबंधक को पांच लाख का भुगतान किया गया. उप महाप्रबंधक राजीव रंजन ने फिर से 10 लाख रुपये के बकाये में से पांच लाख रुपये मांगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.