गिरिडीह जिला परिषद उपाध्यक्ष को डायन बिसाही प्रताड़ना के आरोप में पुलिस ने थमाया नोटिस

जिला परिषद उपाध्यक्ष सह भाजपा नेता कामेश्वर पासवान (फाइल)
जिला परिषद उपाध्यक्ष सह भाजपा नेता कामेश्वर पासवान (फाइल)

गिरिडीह।  डायन-बिसाही कहकर प्रताड़ित करने के मामले में जिला परिषद उपाध्यक्ष सह भाजपा नेता कामेश्वर पासवान पर कानूनी शिकंजा कसना शुरू हो गया है। लगभग दो माह पूर्व मुफस्सिल थाना में कामेश्वर पासवान समेत उनके परिवार के पांच सदस्यों के विरुद्ध डायन-बिसाही कहकर प्रताड़ित करने के आरोप में दर्ज कराई गई प्राथमिकी में पुलिसिया कार्रवाई तेज हो गयी है।

एसडीपीओ सदर अनिल कुमार सिंह ने मामले के पर्यवेक्षण में कांड को सत्य पाया है और जिप उपाध्यक्ष समेत अन्य दोषी के गिरफ्तारी का आदेश दे दिया है। मंगलवार को अनुसंधानकर्ता गुरूचरण मांझी द्वारा जिप उपाध्यक्ष समेत दोषी पाये गये । अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कानूनी प्रोसेस प्रारंभ कर दिया गया है।

मामले को लेकर जिप उपाध्यक्ष के परिजनों को नोटिस थमाया गया है। नोटिस कामेश्वर पासवान एवं उनके भाई मुकेश पासवान के नाम से है। दोनों को एक सप्ताह के अंदर थाना में उपस्थित होकर अपना पक्ष रखने को कहा गया है।क्या है मामला: मुफस्सिल थाना क्षेत्र के कोलीमारन निवासी पीड़ित महिला की शिकायत पर यह मामला दर्ज किया गया था।

प्राथमिकी में भाजपा नेता सह जिप उपाध्यक्ष कामेश्वर पासवान, उनकी पत्नी निर्जला देवी, भाई मुकेश पासवान के अलावा बद्री पासवान तथा देवंती देवी को नामजद अभियुक्त बनाया गया था। प्राथमिकी में पीड़िता ने कहा था कि 15 अक्तूबर को कोलीमारन के कामेश्वर पासवान, मुकेश पासवान, निर्जला देवी, बद्री पासवान एवं देवंती देवी उसके घर में घुस गये और डायन-बिसाही कहकर गाली-गलौज करने लगे। कामेश्वर, मुकेश व बद्री ने उसके पकड़ लिया तथा कहने लगा कि यह डायन है इसका बाल काट दो। इसके बाद निर्जला एवं देवंती ने कैंची से उसका बाल काटने का भी प्रयास किया। इस दौरान विरोध करने पर उसके पुत्र के साथ बेरहमी से मारपीट की गयी और उसे घसीटते हुए काली मंडप ले जाया गया। हालांकि हो-हल्ला सुन स्थानीय लोगों के जुटने व बीच -बचाव के बाद ये लोग वहां से भाग गये। वहीं पीड़िता ने जान मारने की धमकी देने का भी आरोप लगाया था।

एसडीपीओ अनिल कुमार सिंह ने कहा कि पर्यवेक्षण में कांड सत्य पाया गया है। विधि सम्मत कार्रवाई की जा रही है। गिरफ्तारी का आदेश दे दिया गया है। गिरफ्तारी को लेकर कानूनी प्रोसेस पूरा किया जा रहा है। नोटिस देकर पक्ष रखने को कहा गया है। संतोषजनक जवाब नहीं देने पर गिरफ्तारी की जायेगी। वहीं सह भाजपा नेता जिप उपाध्यक्ष कामेश्वर पासवान कि वे व उनके परिजन पूरी तरह निर्दोष हैं। साजिश के तहत उन्हें फंसाया जा रहा है। एसपी को आवेदन देकर न्याय का गुहार लगाई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *