देश के इतिहास में पहली बार 38 आतंकवादियों को फांसी की सजा

11 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाी गई
11 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाी गई

2008 में हुए अहमदाबाद ब्लास्ट केस में ऐतिहासिक फैसला देते हुए अदालत ने 38 दोषियों को फांसी की सजा सुनाई है । सीरियल ब्लास्ट केस के 11 अन्य आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है । इस मामले में फैसला 9 फरवरी को ही आना था, लेकिन बचाव पक्ष के वकील ने मामले में कुछ दस्तावेज देने के लिए समय मांगा था ।

अहमदाबाद विस्फोट मामले में सत्र न्यायालय के न्यायाधीश एआर पटेल ने 8 फरवरी को फैसला सुनाते हुए 49 आरोपियों को दोषी करार दिया था । वहीं इस मामले में अदालत ने 77 में से 28 आरोपियों को बरी कर दिया था ।

26 जुलाई 2008 में हुए थे धमाके
साल 2008 में अहमदाबाद में सीरियल बम ब्लास्ट हुए थे । इस हमले में 56 लोगों की मौत हुई थी । वहीं 200 लोग घायल हो गए थे । यह घटना 26 जुलाई 2008 को घटी थी । इन 21 सीरियल ब्लास्ट ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था । ये ब्लास्ट भीड़-भाड़ वाली जगहों पर दहशत फैलाने के इरादे से किए गए थे । विस्फोट से कुछ मिनट पहले, टेलीविजन चैनलों और मीडिया को एक ई-मेल मिला था, जिसे कथित तौर पर ‘इंडियन मुजाहिदीन’ ने धमाकों की चेतावनी दी थी ।

30 आतंकी तुरंत हो गए थे गिरफ्तार
28 जुलाई 2008 को विस्फोट मामले की जांच के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया था । महज 19 दिनों के अंदर पुलिस ने 30 आतंकियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.