पांच लोगों को घर में बंद कर लगाई आग, जलाकर मारने की थी योजना (देखें वीडियो)

गणेश सिंह और तपेश्वर सिंह की दुश्मनी का खौफनाक अंजाम
गणेश सिंह और तपेश्वर सिंह की दुश्मनी का खौफनाक अंजाम
  • घर के अंदर बंद करके बाहर से चारो तरफ से लगाई आग
  • आक्रोश में मृतक के पिता ने लगाई थी आग
  • पुलिस ने बचाई लोगों की जान,लोगों को घर से बाहर निकाला
  • फायर बिग्रेड के एक घण्टे मशक्कत के बाद पाया आग पर काबू
  • पूरा घर जलकर हुआ खाक

मनिका (लातेहार)। मनिका प्रखंड के सिंजो गांव में तपेश्वर सिंह के घर में उसके ,मा उर्मिला देवी, भगिनी काजल कुमारी,भगिना विकास सिंह को घर अंदर बंद कर बाहर से मिट्टी तेल छिड़ककर आग लगा दी।चारो तरफ से घर धू धू कर जलने लगा।आग लपट तेज होने लगी।घर के अंदर बंद चार लोग चीखने चिल्लाने लगे परंतु बाहर से किसी ने दरवाजा नहीं खोला।

सूचना मिलते ही थाना प्रभारी शुभम कुमार, एसआई गौतम कुमार, सुरेश सिंह, भोला यादव समेत कई पुलिसकर्मी घटनास्थल पर पहुंचे और दरवाजा खोल कर तीनों को बाहर से निकाला। मौके पर पुलिस ने आग बुझाना शुरू किया परंतु आग की लपट इतनी तेज थी कि काफी मशक्कत के बाद भी आग पर काबू नहीं पाया गया । बाद में फायर बिग्रेड के वाहन आने के बाद लगभग 1 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया । पूरा घर जलकर खाक हो गया। पुलिस ने घर के अंदर रखे सामान को शीघ्रता से बाहर निकाल कर फेंका।

पुत्र की हत्या की आशंका पर गणेश और उसके परिजनों ने घर में आग लगाई थी जिसे आस पास के ग्रामीण और पुलिस भी तेल छिड़कते देखा था। जबकि घर का दूसरा हिस्सा धू-धू कर जल रहा था। परन्तु किसी की हिम्मत मना करने की नहीं हुई। पुलिस के पहुंचने के बाद पुलिस के साथ लोग आग बुझाने आगे आये। वहीं पुलिस ने तीनों को सुरक्षित निकाला।

आरोपी गणेश सिंह ने क्या कहा ?

सिंजो ग्राम निवासी गणेश सिंह के पुत्र किरानी सिंह ने फाँसी लगाकर आत्महत्या कर लिया । गणेश सिंह को शक था कि उसके बेटे की हत्या कर दी गई है । इसी कारण गणेश सिंह के परिवार के लोगों ने बदले की भावना से तपेश्वर सिंह के घर मे आग लगा दी। इस पूरे मामले पर गणेश सिंह ने कहा कि तपेश्वर सिंह ने पूर्व से चलते आ रहे जमीन विवाद  के कारण हमारे बेटे की हत्या कर दी और इसे आत्महत्या का रूप दिया । हमारा बेटा रविवार को सुबह से घर से गायब था। हमलोग सुबह से ही खोज बिन  कर रहे थे लेकिन कहीं अता-पता नहीं लगा ।  सुबह खोजबीन के दौरान हमारा बेटे की लाश घर से आधा किलोमीटर दूर पलाश पेड़ के पास मिला ।

तपेश्वर सिंह ने क्या बताया ?

दूसरी ओर तपेश्वर सिंह ने बताया कि जमीनी विवाद के कारण गणेश सिंह अपने पूरा परिवार के साथ लगभग 15 16 की संख्या में महिला पुरुष लाठी डंडा से लैस होकर हमारे घर आए और हम लोग के साथ मारपीट करने लगे और हम लोग को घर के अंदर बंद करके मिट्टी तेल छिड़ककर जिंदा जलाने की नियत से आग लगा दिया ।

थाना प्रभारी ने क्या बताया ?

थाना प्रभारी शुभम कुमार ने बताया कि किरानी सिंह का शव देखने से प्रथम दृष्टिकोण से आत्महत्या प्रतीत होता है, बाकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद सरा मामला का खुलासा होगा। वही अगलगी की घटना काफी निंदनीय है इस तरह का घटना में सन लिप्त लोगों को किसी भी सूरत में नहीं बख्शा जाएगा । अगलगी की घटना में शामिल लोगों का पहचान प्रशासन के द्वारा कर लिया गया है ।

देखें लाइव वीडियो

Leave a Reply

Your email address will not be published.