पेशावर में जुमे की नमाज के दौरान फिदायिन अटैक, 57 लोगों की मौत, 200 घायल

धमाके के बाद जहां-तहां बिखरे पड़े थे शव
धमाके के बाद जहां-तहां बिखरे पड़े थे शव

पाकिस्तान के पेशावर में शुक्रवार को एक मस्जिद के भीतर जोरदार धमाका हो गया । जिसमें कम से कम 57 लोगों की मौत हो गई है और 200 लोग घायल हुए हैं । अस्पताल के अधिकारियों का कहना है कि शवों को लेडी रीडिंग हॉस्पिटल लाया गया है । ये घटना कोचा रिसालदार इलाके की है । पेशावर के सीसीपीओ एजाज अहसान ने पुष्टि करते हुए कहा कि धमाके में एक पुलिसकर्मी की भी मौत हो गई है । लेडी रीडिंग अस्पताल के मीडिया मैनेजर आसिम खान ने कहा कि अभी तक 30 से ज्‍यादा शवों को अस्पताल में लाया गया है ।

सीसीपीओ ने बताया कि शुरुआती खबरों के मुताबिक शहर के किस्सा ख्वानी बाजार में दो हमलावरों ने एक मस्जिद में घुसने की कोशिश की और वहां पहरेदारी कर रहे पुलिसकर्मियों पर गोलीबारी कर दी । जिसमें एक पुलिसकर्मी मारा गया, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया । सीसीपीओ ने कहा कि हमले के बाद मस्जिद में लोगों को निशाना बनाया गया और वहां जोरदार धमाका हो गया । घटना के बाद से आसपास के लोग काफी दहशत में हैं ।

मस्जिद के बाहर लगा लाशों का अंबार
मस्जिद के बाहर लगा लाशों का अंबार

किसी ने नहीं ली हमले की जिम्मेदारी
पुलिस अधिकारी वहीद खान ने एपी को बताया कि धमाका तब हुआ, जब नमाज के लिए कोचा रिसालदार मस्जिद में नमाज अदा करने के लिए लोग जमा हुए थे. प्रत्यदर्शियों में से एक शयान हैदर भी उस वक्त मस्जिद में प्रवेश कर रहे थे, जब उसमें भीषण धमाका हुआ. जिसकी वजह से वह सड़क पर जाकर गिर गए. उन्होंने बताया, ‘मैंने अपनी आंखें खोली और हर तरफ धूल और शव बिखरे पड़े थे.’ पेशावर के सीसीपीओ के अकाउंट के अनुसार, घटनास्थल से सबूत इकट्ठा किए गए हैं. लेकिन धमाका किस तरह का था, ये बताना इस वक्त जल्दबाजी होगी. अफगानिस्तान की सीमा से लगते खैबर पख्तूनख्वाह प्रांत की राजधानी पेशावर में विस्फोट की जिम्मेदारी किसी भी समूह ने फौरन नहीं ली है. मगर इस्लामिक स्टेट और कट्टरपंथी आतंकवादी समूह अतीत में शिया समुदाय पर घातक हमलों की ज़िम्मेदारी ले चुके हैं.

अस्पताल में मची अफरा-तफरी
लेडी रीडिंग अस्पताल के आपातकालीन विभाग में अफरा-तफरी मच गई. डॉक्टरों को कई घायल लोगों को ऑपरेशन थिएटर में ले जाने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ा. प्रवक्ता ने कहा कि अस्पताल को रेड अलर्ट पर रखा गया है और अधिक चिकित्सा कर्मियों को एलआरएच बुलाया गया है. स्थानीय लोगों का कहना है कि इस इलाके में कई मार्किट हैं और शुक्रवार की नमाज के दौरान यहां काफी भीड़ रहती है. प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) ने एक बयान में कहा, प्रधानमंत्री इमरान खान ने हमले की कड़ी निंदा की है और घायलों को तत्काल चिकित्सा प्रदान करने का निर्देश दिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.