बोकारो: बेटी की डोली उठने से पहले पिता की हत्या

ऊपरघाट के बरई में शव के साथ धरना में बैठे ग्रामीण
ऊपरघाट के बरई में शव के साथ धरना में बैठे ग्रामीण।

अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शव के साथ ग्रामीण बैठे हैं धरना पर

बोकारो थर्मल। बेरमो अनुमंडल के पेंक नारायणपुर थाना क्षेत्र स्थित बरई पंचायत में एक बेटी की डोली उठने के पहले उसके पिता की हत्या कर दी गई। दरअसल राजस्थान से शादी करने दुल्हा एवं उसके पिता बरई पहुंचा था। लेकिन दुल्हन नाबालिग होने का कारण बताकर ग्रामीण इसका विरोध कर रहे थे। इसी बात को लेकर दुल्हन के पिता भोला तुरी और ग्रामीणों के साथ मारपीट हो गई। जिसके कारण भोला तुरी घायल हो गया। आनन फानन में उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन स्थिति गंभीर होने के कारण बेहतर इलाज के लिए उसे रांची रेफर कर दिया गया। मंगलवार की अहले सुबह रिम्स रांची में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि राजस्थान के अलवर टाउन निवासी कैलाश शर्मा का बेटा दीपक शर्मा का शादी बरई निवासी भोला तुरी के बेटी से तय हुई थी। लेकिन रविवार को तथाकिथत लोगों को इस अंतरजातीय विवाह नगावार लगा। उक्त लोगों ने दुल्हा और दुल्हन के पिता की पिटाई कर दी। पिटाई से दुल्हन के पिता भोला तुरी गंभीर रूप से घायल हो गया। आनन-फानन में उसे बोकारो थर्मल स्थित डीवीसी अस्पताल पहुंचाया गया। जहां प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के बोकारो रेफर दिया गया। वहां भी चिकित्सक इलाज के बाद उसे रांची रेफर कर दिया।

इस मामले में दुल्हन की मां शीला देवी ने कहा कि पलामू निवासी खैटा प्रजापति की अगुवाई में बेटी की शादी राजस्थान में तय हुई थी। लेकिन समाज के कुछ लोगों को यह रास नहीं आया। जबकि लड़की बालिग है, लेकिन ग्रामीण नाबालिग होने की बात कह शादी को रोक दिया और मारपीट किया। मंगलवार की सुबह इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

इस संबंध में थाना प्रभारी सुंधाशू श्रीवास्तव ने बताया कि लड़की नाबालिग होने की बात कहकर ग्रामीण विरोध कर रहे थे। भोला तुरी की इलाज के दौरान मौत जाने की खबर मिली है। मृतक के परिजनों के लिखित शिकायत के बाद कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
तथाकथित समाज के ठेकेदारोंः तुरी समाज के तथाकथित समाज के ठेकेदार नकुल तुरी, धानेश्वर तुरी, नुनूचंद तुरी, गणेश तुरी, मेघनाथ तुरी, दिली तुरी, लालमोहन तुरी, भुवनेश्वर राम तुरी सहित अन्य दर्जनों लोगों ने शीला देवी के पति भोला तुरी के साथ सोमवार को बांध कर मारपीट किया था। जिससे उसकी मौत मंगलवार को इलाज के दौरान रांची के रिम्स में हो गयी।

इससे पूर्व मृतक की पत्नि शीला देवी ने थाना में लिखित शिकायत भी की थी। लेकिन यहां पर पुलिसिया चूक हो गयी। कार्रवाई करने बजाय थाना में पंचायती की गयी। मारपीट में घायल भोला तुरी थाना परिसर पर दर्द से कहराते रहा, लेकिन इलाज के लिए पुलिस द्वारा पहल नहीं किया गया। अंततः गांव के कुछ समाजिक व्यक्तियों ने अपने स्तर से इलाज के लिए डीवीसी अस्पताल ले गए। वहां प्राथमिक उपचार के बाद बोकारो रेफर कर दिया। स्थिति को देखते हुए वहां से भी रेफर रांची कर दिया। जहां इलाज के दौरान मंगलवार की सुबह भोला तुरी की मौत हो गयी।

आरोपियों की गिरफ्तारी तक धरना जारी रहेगा

बोकारो थर्मल। बरई पंचायत के ग्रामीणों ने भोला तुरी के हत्यारे की गिरफ्तारी 24 घंटा के अंदर मांग किए है। ग्रामीणों का कहना है कि जब तक गिरफ्तारी नहीं होगी, तब तक शव के साथ धरना में बैंठे रहें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WP Twitter Auto Publish Powered By : XYZScripts.com