मुआवजा भुगतान नहीं होने के कारण रैयतो ने प्रभा एनर्जी कंपनी के गेट में ताला जड़ा

काम बंद रहने से कंपनी को लाखों का नुकसान
काम बंद रहने से कंपनी को लाखों का नुकसान

बड़कागांव संवाददाता/ रंजीत साव

हजारीबाग जिले के बड़कागांव प्रखंड अंतर्गत नापो खुर्द पंचायत के नापो कलां के अंतर्गत नागदेव तरी गांव में ओएनजीसी के संयुक्त कंपनी प्रभा एनर्जी प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के द्वारा काम किया जा रहा है जिसका वेल संख्या एन.के.डी.-47 है। जिसमें स्थानीय रैयतों ने कंपनी के विरुद्ध मुवायजा व रोजगार नहीं देने को लेकर ताला जड़ दिया। काम ठप होने के कारण कंपनी को लाखों का नुकसान हुआ।

बताते चलें कि पिछले साल कंपनी ने नागदेवतरी में रैयतों जमीन लीज पर लेकर काम चालू की लेकिन कंपनी के द्वारा रैयतों को एक बार भी मुवायजा नही दिया गया। एन.के.डी.-47 में कुल 11 रैयत है जिसमें तिलानाथ महतो, प्रदीप कुमार, बैजनाथ महतो, विशुन दयाल महतो, संतोष महतो, बिजली गोप, रघुनंदन यादव, बालेश्वर यादव, नंद लाल यादव, दीपक यादव,व गिरधारी यादव शामिल हैं। रैयतों ने कहा कि एक कुआं था जिसके बदले नया बोरिंग करने की बात हुआ था लेकिन वो भी नहीं हुआ।

ताला मारें जाने पर अधिकारी का क्या कहना है-
ओएनजीसी के संयुक्त कंपनी प्रभा एनर्जी के अधिकारी अमीत सिंह से फोन पर एन.के.डी.-47 में ताला मारें जाने को लेकर सवाल पुछे जाने पर उन्होंने कहा कि सर्वर समस्या रहने के कारण रैयतो का मुआवजा नहीं हो पाया है ।लेकिन शुक्रवार तक रैयतों का मुआवजा दे दिया जाएगा तथा बोरिंग के सवाल पर उन्होंने कहा कि ग्राम सभा अध्यक्ष या मुखिया के द्वारा आवेदन प्राप्त होने के पश्चात बोरिंग करा दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.