वाटरफॉल, पार्क, पिकनिक स्पॉट एवं मंदिर में भीड़ न लगाएं, घर में ही मनाएं नया साल- मुख्यमंत्री

संयमित और सतर्कता के साथ नया वर्ष सेलिब्रेट करें
संयमित और सतर्कता के साथ नया वर्ष सेलिब्रेट करें

मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज झारखंड मंत्रालय में राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर उच्चस्तरीय बैठक की। मुख्यमंत्री ने बैठक में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को लेकर चिंता जतायी। मुख्यमंत्री ने नए वर्ष की गैदरिंग आयोजनों पर नजर रखते हुए वाटरफॉल, पार्क, पिकनिक स्पॉट एवं मंदिर इत्यादि जगहों पर कोविड-19 गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराए जाने का निर्देश अधिकारियों को दिया। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि भीड़भाड़ वाले सभी जगहों पर कोरोना टेस्ट ड्राइव चलाएं। बैठक में मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि अभी राज्य में प्रतिदिन लगभग 35 हजार कोविड-19 टेस्ट किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने इस संबंध में अधिकारियों को निर्देशित किया कि विभाग ऐसी व्यवस्था जल्द बनाएं जिससे प्रतिदिन 75 हजार से लेकर 1 लाख के बीच कोरोना टेस्ट हो, यह सुनिश्चित करें।

 

जनवरी माह के पहले सप्ताह फिर होगी समीक्षा

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले सप्ताह उच्चस्तरीय बैठक आयोजित कर कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के सभी पहलुओं का आकलन करते हुए आवश्यकतानुसार राज्य सरकार ठोस कदम उठाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि आगामी 15 जनवरी तक राज्य में शत-प्रतिशत वयस्क लोगों का टीकाकरण सुनिश्चित करें। जिन्होंने वैक्सिन का पहला डोज ले लिया है उनका ससमय दूसरा डोज भी लगे यह सुनिश्चित किया जाए तथा जिन्होंने वैक्सिन का पहला डोज नहीं लिया है उनका कम से कम पहला डोज लगे यह सुनिश्चित करें।

 

मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों से की अपील

मुख्यमंत्री ने राज्यवासियों से अपील की है कि वे फेस मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग सहित संक्रमण से बचाव का अन्य उपयोग हर हाल में करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि नए वर्ष में आयोजित होने वाले गैदरिंग पार्टियों में शामिल होने से बचें। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले एक सप्ताह में कोरोना संक्रमण के केसों में वृद्धि दर्ज की गई है, यह हम सभी के लिए चिंताजनक बात है। मुख्यमंत्री ने लोगों से अपील की कि वे स्वयं के साथ-साथ अपने परिजनों की सुरक्षा करें, कोरोना संक्रमण के बदलते वेरिएंट को समझें। बेवजह भीड़-भाड़ वाले जगहों में न जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण के पहली एवं दूसरी लहर में राज्य वासियों ने सरकार के साथ समन्वय स्थापित कर एक बेहतर उदाहरण पेश किया था। आगे भी हम सभी को जनहित में बेहतर करने की जरूरत है। कोरोना संक्रमण से हमसभी लोग लड़ेंगे भी और हर हाल में जीतेंगे भी। कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए राज्य सरकार झारखंड वासियों से सहयोग की अपेक्षा रखती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *