अचानक दुकान बंद होने से परेशान मोरहाबादी के दुकानदार ने की आत्महत्या

सरकार की संवेदनहीनता का परिणाम है दुकानदार की आत्महत्या : संजय सेठ
सरकार की संवेदनहीनता का परिणाम है दुकानदार की आत्महत्या : संजय सेठ

रोजगार नहीं दे पाने वाली यह सरकार अब रोजगार छीन रही है- संजय सेठ

रांची । मोरहाबादी में एक जूस दुकानदार के द्वारा आत्महत्या करने के मामले में सांसद संजय सिंह ने राज्य सरकार को कटघरे में खड़ा किया है। सांसद संजय सेठ ने कहा है कि एक तो यह सरकार रोजगार नहीं दे पा रही है, दूसरी तरफ लोगों का रोजगार छीन रही है। और स्थिति यह हो गई है कि मानसिक व आर्थिक रूप से परेशान होकर लोग आत्महत्या कर रहे हैं। मोराबादी में जूस दुकानदार के द्वारा आत्महत्या करने की घटना इसी की बानगी है।

पीड़ित परिवार को 5 लाख मुआवजे की मांग

सांसद संजय सेठ ने कहा कि जिस तरह से तुगलकी फरमान जारी करके मोरहाबादी से सैकड़ों दुकानदारों को एक झटके में बेरोजगार कर दिया गया, यह राज्य सरकार और प्रशासन की उदासीनता को दर्शाता है। सरकार की संवेदनहीनता को दर्शाता है। ढाई साल में लोगों को रोजगार उपलब्ध नहीं करा पाने वाली यह सरकार, अब लोगों का स्वरोजगार भी छीन रही है। व्यवसायियों को परेशान कर रही है।

सांसद ने कहा कि राज्य सरकार और प्रशासन को अविलंब इस मामले में पीड़ित परिवार को कम से कम 5 लाख का मुआवजा देना चाहिए। इसके साथ ही इस बात की पहल करना चाहिए कि दुकानदार फिर से अपना व्यवसाय चालू कर सकें ताकि ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.