काँग्रेस का दो दिवसीय संकल्प कार्यक्रम शुरू, उठी आरजेडी से गठबंधन तोड़ने की मांग

पटना: बिहार कांग्रेस का दो दिवसीय नव संकल्प कार्यक्रम राजगीर में शुरू हो गया है. पहले दिन फर्स्ट सेशन में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं का संबोधन हुआ. तीन सौ से अधिक कार्यकर्ता और नेता इस कार्यक्रम में शामिल हुए. उद्घाटन सत्र में प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने कहा कि अभी राज्य स्तर पर आयोजित यह संकल्प शिविर जिला और प्रखंड स्तर पर भी आयोजित होगा. नव संकल्प शिविर से पार्टी में ऐतिहासिक परिवर्तन की संभावना है. इसके साथ ही झा ने कहा कि आज सभी कांग्रेसियों को अपना हित छोड़कर पार्टी हित में सोचने की जरूरत है.

कांग्रेस की वरिष्ठ नेत्री पूनम पासवान ने पार्टी में संगठन की कमजोरी पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब तक संगठन की जवाबदेही कार्यकर्ताओं को नहीं दी जाएगी तब तक कांग्रेस की मजबूती की बात करना बेमानी है.

दरअसल, बिहार से कांग्रेस के एकमात्र लोकसभा सांसद मोहम्मद जावेद कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे लेकिन वे पीछे की ओर जाकर बैठ गए, जबकि उनके लिए आगे की सीट निर्धारित थी. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा के अलावा बिहार कांग्रेस प्रभारी भक्त चरण दास उनके पास पहुंचे और आगे चलकर स्थान ग्रहण कराने की कोशिश की,  लेकिन सांसद अपनी जगह पर बैठे रहे. और तो और संकल्प शिविर के लिए कांग्रेस ने जो व्हाट्सएप ग्रुप बनाया था, उससे भी लेफ्ट कर गए. जब उनसे पूछा गया तो वह पूरे मामले पर टालमटोल करते नजर आए और कहा कि पार्टी को मजबूती इस संकल्प शिविर से जरूर मिलेगी. उन्होंने अपनी किसी तरह की नाराजगी से इनकार किया.

संकल्प शिविर के पहले दिन कई नेताओं ने खुले मंच से बिहार में राजद के साथ किसी भी तरह के समझौते का विरोध किया. पार्टी द्वारा राजगीर में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह से जब बिहार में राजद के गठबंधन को लेकर सवाल किया गया तब उन्होंने कहा कि प्रदेश स्तर पर समझौता को लेकर फैसला करने का अधिकार किसी नेता को नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.