चतराः टेंडर मैनेज करने के लिए ठेकेदार ने खुलेआम बांटी नोटों की गड्डियां,देखें वीडियो

EXCLUSIVE VIDEO CHATRA

चतरा : जिले में टेंडर मैनेजर का खेल खुलेआम चल रहा है। चाहे विकास भवन कार्यालय हो या जिला परिषद कार्यालय हर जगह यह नजारा आम है। ग्रामीण विकास विभाग में टेंडर निकलने के बाद टेंडर मैनेज करने की प्रक्रिया शुरू हो गया है ।

लगभग दस संवेदक टेंडर में शिरकत करने आये थे।  पर ईटखोरी प्रखण्ड के एक संवेदक ने अन्य संवेदकों के साथ टेंडर मैनेज कर नोटों की गड्डियां बांटा । सभी संवेदक पेपर को ले लिया था और सम्बंधित विभाग में टेंडर डालते । जानकारी के अनुसार सरकार के द्वारा अधिकतम लेस पर टेण्डर डालने की प्रक्रिया किया गया है जिससे संवेदकों को काम लेने के दौरान 40% तक का लेस डालना पड़ता है । ऐसे में सरकार के राजस्व का मुनाफा होता था पर संवेदक इस प्रक्रिया को रोकने के लिए कार्यालय के बाहर ही मैनेज का खेल खेलकर टेण्डर डाल रहे है और जिला प्रशासन इस मामले से बेखबर है । काम करने के इच्छुक संवेदक को संबंधित संवेदकों को मैनेज करने की मजबूरी होती है। इसके बाद ही शुरू हो जाता है टेंडर मैनेज करने का खेल।

मंगलवार को चतरा के विकास भवन परिसर जहां विकास करने वाले अधिकारियों की उपस्थिति होती है ठीक उसी परिसर में योजनाओं के टेंडर को मैनेज करने का खेल चला । यहां सरेआम ठेकेदारों के बीच पैसों का लेन-देन हुआ ।

दरअसल मंगलवार को ग्रामीण विकास विभाग के द्वारा ईटखोरी प्रखण्ड में एक योजना का टेंडर निकाला गया । यह योजना लगभग 2 करोड़ की लागत से इस योजना का काम होना है । सुबह से ही टेंडर गिराने का काम ठेकेदारों के द्वारा किया जाना था।  पर इससे पहले ठेकेदारों का जमावड़ा विकास भवन परिसर में लगा । यहां दर्जनों लोग जुटे । यहीं ठेकेदार एक- दूसरे को मैनेज करते दिखे । इस दौरान खुलेआम नोटों की गड्डियां बांटी गई और अधिकारी व कर्मी बेखबर दिखे ।

हाथों में नोटों की गड्डियां लहराता इटखोरी का ठेकेदार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *