दो साल बाद भी नहीं सुलझा यौन उत्पीड़न का मामला, मदद के लिए भटक रही पीड़िता

बोकारो: जिले के बेरमो प्रखंड अंतर्गत डीएवी पब्लिक स्कूल स्वांग के महिला कर्मी का मामला दो साल बाद भी अबतक नहीं सुलझ पाया है. मामले को लेकर डीएवी स्कूल प्रबंधन की शिथिलता के कारण पीड़ित महिला आज दर दर की ठोकर खाने को विवश है.
आपको बता दे कि पूर्व में डीएवी स्वांग में कार्यरत उक्त महिला कर्मी द्वारा विद्यालय प्रबंधन और कथारा क्षेत्र के एक अधिकारी के उपर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था. इस संबंधन में बताया जा रहा है कि उक्त मामले के उजागर होने के बाद प्रबंधकीय दबाव उक्त पीड़िता पर बनाया जाने लगा. इसी बीच पीड़िता ने हौसला दिखाते हुए मामले का साक्ष्य न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर दिया. इस घटना के बाद डीएवी स्वांग प्रबंधन ने पहले तो कोरोना का बहाना बनाकर महिला कर्मी को विद्यालय नहीं आने की सलाह दी. बाद में बिना कारण बताए उक्त महिला कर्मी को विद्यालय परिसर में प्रवेश पर पर हीं रोक लगा दिया गया.

हालांकि इस बीच महिला के खिलाफ कार्रवाई करते हुए डीएवी स्वांग के प्राचार्य डॉ एसके शर्मा द्वारा 3 जनवरी 2021 को एलएमसी चेयरमैन सह सीसीएल कथारा क्षेत्र के महाप्रबंधक को प्रेषित पत्र (पत्रांक संख्या DAVSWG/2021/521) के माध्यम से कहा है कि उक्त महिला कर्मी आदतन गलत मुकदमा करती रही है. पत्र में कहा गया है कि डीएवी में योगदान से पूर्व उक्त महिला कर्मी द्वारा रांची के पंडरा थाना में भरथ कुमार के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया. इसके अलावा इसी पंडरा थाना में केस संख्या- दिनांक 26/6/16 को उमेश नाग के विरुद्ध मामला दर्ज कराई. जिसमें पचास हजार रूपये लेकर दर्ज मामले को वापस ले ली. इसके साथ ही कई अन्य मामले को लेकर भी विभिन्न थानों में मामला

Leave a Reply

Your email address will not be published.