प्रत्याशी के नामांकन के बाद डैमेज कंट्रोल करने में जुटी जेएमएम और काँग्रेस

रांची: झारखंड प्रदेश में सत्ता पक्ष के घटक दलों के बीच लंबे चले राजनीतिक आना कानी के बाद अब दोनों पार्टी डैमेज कंट्रोल करने में लगे हुए है. राज्य सभा चुनाव में प्रत्याशी महुआ मांझी के नामांकन दाखिल करने के बाद सीएम हेमंत सोरेन ने इस बात को स्पष्ट किया है कि राज्यसभा चुनाव और सरकार में भागीदारी दो अलग अलग चीज है. वहीं झारखंड काँग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि कांग्रेस विधायकों में सरकार के प्रति कोई नाराजगी नहीं है. इसके साथ ही हेमंत सोरेन से मिलने देर शाम झारखंड कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे मुख्यमंत्री आवास भी पहुंचे थे.

जेएमएम द्वारा प्रत्याशी उतारे जाने के बाद कांग्रेस विधायकों की नाराजगी के बीच प्रभारी अविनाश पांडे ने पार्टी मुख्यालय में सभी के साथ वन टू वन बैठक की. बैठक के बाद विधायकों की नाराजगी की बात को सिरे से खारिज हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह बैठक विशेषकर संगठन की मजबूती को लेकर आज बैठक बुलायी गयी थी. राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी नहीं उतारे जाने के सवाल पर कहा, कांग्रेस के पास अपनी संख्या नहीं थी. इस कारण पार्टी ने चुनाव में प्रत्याशी नहीं उतारा. जबकि पर्याप्त संख्या होने के कारण जेएमएम ने महुआ माजी को अपना प्रत्याशी बनाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.