बरहीः रुपेश के शव के साथ ग्रामीणों का प्रदर्शन, एनएच-2 घंटों जाम

मो असलम उर्फ पप्पू मियां समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है
पुलिस ने मो. असलम उर्फ पप्पू मियां समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है

उज्ज्वल दुनिया संवाददाता
बरही। बरही थाना क्षेत्र दुलमाहा पंचायत के नई टांड़ में रविवार को सरस्वती पूजा मूर्ति विषर्जन के दौरान दो पक्षों की बीच मारपीट में नई टांड़ निवासी सिकंदर पांडे का इकलौता पुत्र की मौत हो थी।जिसके बाद सोमवर को आक्रोशित ग्रामीणों ने शव के साथ 10:30 से 12:30 बजे तक नई टांड़ एनएच 2 सड़क को जाम रखा। इस बीच जाम स्थल पर डीसी आदित्य कुमार,एसपी मनोज कुमार चौथे, बरही कांग्रेस विधायक उमाशंकर अकेला, बरही के पूर्व विधायक सह भाजपा नेता मनोज कुमार यादव, एसडीओ पूनम कुजूर, डीएसपी नजीर अख्तर, बरही बीडीओ सह सीओ अरविंद देवशीष टोप्पो,बरही पुनि सह थाना प्रभारी नीरज कुमार सिंह, सदर इंस्पेक्टर ललित कुमार, इंस्पेक्टर उत्तम तिवारी समेत कई जनप्रतिनिधि एवं सामाजिक लोग उपस्थित हुए।

ग्रामीणों के उग्र प्रदर्शन को देखे हुए धारा 144 लागू
ग्रामीणों के उग्र प्रदर्शन को देखे हुए धारा 144 लागू

जाम स्थल पर मृतक के परिजन बरही थाना को आवेदन देते हुए मांग किया कि 27 लोगों पर प्राथमिक दर्ज किया जाय और उसे अविलम्ब गिरफ्तारी किया जाय। पीड़ित परिवार को उचित न्याय दी जाय। उसके बाद करियातपुर चौक पर मृतक रूपेश कुमार का प्रतिमा स्थापित करने की मांग की। साथ ही मृतक परिवार को एक सरकारी नौकरी के साथ 50 लाख की मुवावजा के तौर पर नगद राशि की मांग की। वहीं पीएम आवास की भी मांग रखी। जिसके बाद प्रशासन ने फिलहाल 20 हजार रुपये अंतिम संस्कार के लिए दिया। प्रशासन के अधिकारियों ने कहा कि सरकारी प्रक्रिया के तहत जो भी लाभ होगा, उस मृतक परिवार को सहयोग के रूप दी जाएगी। इसी आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने सड़क जाम को हटाया।

शव को पिररा घोघर के मुक्तिधाम में अंतिम संस्कार मृतक के चाचा के द्वारा किया गया। शव यात्रा में बरही विधायक सह भाजपा नेता मनोज कुमार यादव एवं सदर विधायक मनीष जयसवाल, सद्भावना विकास मंच के अध्यक्ष राजसिंह चौहान समेत भारी संख्या में जनप्रतिनिधि व समाजिक लोग शामिल हुए। मौके पर सदर विधायक मनीष जयसवाल ने मृतक के परिवार को 51 हजार नगद राशि सहयोग राशि दिया।

बताते चलें कि घटना के बाद शनिवार रात्रि आक्रोशित ग्रामीण ने दुलमाहा गांव में एक कार एवं एक टेंपो को जला दिया।वहीं भीड़ को नियंत्रित करने के लिए प्रशासन ने हवाई फायरिग किया था।

ऊक्त घटना में मो असलम उर्फ पप्पू मियां समेत तीन लोगों को बरही पुलिस ने अपने हिरासत में लिया है। इधर घटना के बाद हजारीबाग, गिरिडीह,कोडरमा,चतरा का इंटरनेट सेवा बंद कर दिया गया। वहीं बरही से करियातपुर तक पुलिस चपे चपे पर तैनात थे। घटना के बाद करियातपुर चौक स्वतः बंद रही। बरही की भी दुकानें बंद कराई गई और 144 धारा लगते हुए बरही पुलिस के द्वारा मेकिंग के द्वारा लोगों को हिदायत दिया गया कि भीड़ भाड़ को न रखें।

मौके पर जिला उपाध्यक्ष रमेश ठाकुर,भाजपा प्रदेश के कार्य समिति सदस्य मोतीलाल चौधरी, भाजपा सांसद प्रतिनिधि डोमन पांडेय,कांग्रेस विधायक प्रतिनिधि विनोद यादव, अब्दुल मनान वारसी, कुणाल कतरियार, भाजपा युवा नेता रितेश गुप्ता, झामुमो प्रखंड अध्यक्ष रंजीत पांडेय, आजसू के संतोष रजवार, कमल शंकर पंडित, पंसस जितेंद्र गिरी, पंसस राजकुमार रविदास एवं मृतक के दादा झारखंडी पांडे,पिता सिकंदर पांडे, उदय पांडे, सुरेश पांडे, बीरेंद्र पांडे, नागेंद्र चाचा अनिल पांडे, जनार्दन पांडे, सचिन पांडेय,एवं उनके परिजन एवं जनप्रतिनिधि एवं सामाजिक लोग भारी संख्या में शामिल हुए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.