सुरजी टुडू के गांव लक्ष्मीबथान पहुंचे बाबूलाल, परिजन से मिल दिया हर प्रकार के सहयोग का आश्वासन

[राजेश कुमार]
गिरिडीह : सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री सह धनवार विधायक बाबूलाल मरांडी गुरुवार को जिले के गावां -तीसरी के सुदूरवर्ती क्षेत्र में बसा लक्ष्मीबथान गांव पहुंचे और 13 दिन पूर्व प्रसव पीड़ा के दौरान मौत को प्यारी हुई लक्ष्मीबथान गांव निवासी सुरजी मरांडी के परिजन से मिले और घटना की पूरी जानकारी ली। मौके पर उन्होंने मृतका के परिजन को हर प्रकार के सहयोग का आश्वासन दिया।

गौरतलब है कि लक्ष्मीबथान गांव निवासी सुनील टुडू की पत्नी सुरजी मरांडी को जब 13 दिन पूर्व प्रसव पीड़ा उठी थी। तब परिजन उसे चारपाई पर लाद कर प्रसव कराने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गावां ले गये थे। क्योंकि उक्त गांव में आवगमन को कोई दूसरा साधन उपलब्ध नही था। सुरजी को अस्पताल ले जाने के क्रम में रास्ते में ही सुरजी ने एक स्वस्थ्य बच्ची को जन्म दी थी। हालांकि प्रसव के बाद सुरजी मरांडी की तबियत बिगड़ने लगी थी। परिजन उसी तरह खाट पर लादे उसे लेकर अस्पताल पहुंचे लेकिन अस्पताल में ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक बगैर कोई पूर्व सूचना के ड्यूटी से अनुपस्थित थे। नतीजतन इलाज के अभाव में न केवल सुरजी की बल्कि उसके नवजात शिशु की भी तड़प तड़प कर मौत हो गयी थी।

ग्रामीणों से बात करते बाबूलाल

गुरुवार को गांव पहुंचे मरांडी मृतका के परिजनों से मिल घटना पर अफशोस जाहिर कर स्थानीय ग्रामीणों से भी मिले। उन्होंने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। ग्रामीणों ने गांव में सड़क, पानी, शिक्षा जैसी मूलभूत सुविधा का अभाव होना बताया। कहा कि अगर सड़क होती तो आज हमारे गांव की बहु का सही समय पर इलाज हो गया होता और उसकी जान बच गई होती।

मौके पर मरांडी ने ग्रामीणों को उपायुक्त से मिल कर इस गांव की सभी समस्याओं से अवगत कराने और विभाग को भी चिट्ठी लिखकर शीघ्र सड़क बनाने का काम कराने का आश्वासन दिया। उन्होंने ग्रामवासियों को कुंआ, आंगनबाड़ी केंद्र समेत अन्य सभी सुविधाएं शीघ्र उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।

इस दौरान धनवार विधायक मराण्डी के साथ भाजपा मंडल अध्यक्ष चन्द्रशेखर आजाद,भाजयुमो मंडल अध्यक्ष अंकज सिंह,आयुष सिन्हा, ललित पांडेय, बनारस सिंह, देवान मरांडी, रामचन्द्र ठाकुर, मुन्ना सिंह, अमरदीप निराला, श्रीराम यादव, भगवान दास बर्णवाल, अजीत शर्मा समेत अन्य भाजपा कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.