पीएलएफआई के 8 उग्रवादियों से 77 लाख रुपये, दर्जनों लग्जरी गाड़ियां और अत्याधुनिक हथियार बरामद

77 लाख रुपये, अत्याधुनिक हथियार और कई लग्जरी गाड़ियां बरामद
77 लाख रुपये, अत्याधुनिक हथियार और कई लग्जरी गाड़ियां बरामद

रांची । पीएलएफआई सुप्रीमो दिनेश गोप के 8 गुर्गों को रांची पुलिस ने बीते दिनों गिरफ्तार किया था। उसी लेकर बुधवार को ग्रामीण एसपी और सिटी एसपी ने सयुंक्त प्रेस वार्ता की। ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि रांची के एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा को गुप्त सूचना मिली थी कि पीएलएफआई के सुप्रीमो दिनेश गोप के कुछ सहयोगी शहर के बीच में अपनी गतिविधियां बढ़ा रहे हैं। इसी को देखते हुए रांची पुलिस ने कई जगह गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी की। जिसके बाद धुर्वा थाना प्रभारी के नेतृत्व में धुर्वा थाना के आम बागान के पास से एक घर पर छापेमारी की गई थी ।जहां सबसे पहले उज्जवल तिवारी को हिरासत में लिया गया ।

उज्ज्वल तिवारी से पूछताछ में उसने कई बड़े खुलासे किये । उसके बाद एक के बाद एक कई गिरफ्तारियां हुई। उज्जवल के कहने पर ही निवेश नाम के आरोपी के नगड़ी स्थित घर पर छापेमारी की गई, जहां से कई पर्चा और टेंट बरामद किया गया । साथ स्कूटी, 1 जायलो और 1 बीएमडब्ल्यू कार सहित 32 कारतूस, हथियार और 77 लाख रुपया भी बरामद किया गया है ।

रांची के ग्रामीण एसपी नौशाद आलम ने बताया कि रांची पुलिस को बड़ी सफलता मिली है और कहीं ना कहीं सरगना दिनेश गोप के कुनबे को एक जोरदार धक्का लगा । वहीं पुलिस यह जानकारी जुटा रही है कि निवेश के पास आधुनिक हथियार कहां से आए ?  ग्रामीण एसपी ने कहा कि इस आधुनिक हथियार की जानकारी इंटरनेट में भी नहीं है । ग्रामीण एसपी ने बताया निवेश के तार कहां-कहां जुड़े हुए पुलिस को जब यह सूचना मिली थी तभी से पुलिस उसके पीछे लग गई थी और उज्जवल,शुभम, ध्रुव कुमार प्रवीण प्रकाश और एक महिला को गिरफ्तार किया गया।

महिला की क्या भूमिका है इस पर पुलिस पूरी तरह से जांच पड़ताल कर रही है । ग्रामीण एसपी ने यह भी बताया कि जैसे ही पुलिस को यह पता चला कि कुछ अपराधी रांची छोड़कर भागने वाले हैं तो उनके पीछे साइबर सेल के डीएसपी को लगा दिया गया । वे लोग झारखंड से दिल्ली जा रहे थे। इसी बीच में बिहार के बक्सर में निवेश जो दिनेश गोप का सबसे विश्वासी माना जाता है, उसे गिरफ्तार किया गया । उसके पास से 1200000 रुपए 38 सिम और हाइट टेक्निक 19 मोबाइल बरामद किया गया ।

सिटी एसपी सौरभ कुमार ने बताया कि उज्जवल तिवारी जिओ के कंपनी का कर्मचारी था, जो उन्हें फर्जी सिम उपलब्ध कराता था । उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस और विस्तार से जानकारी प्राप्त कर रही है। यह जानने का प्रयास कर रही है कि महिला अंजलि की की क्या भूमिका है और किस तरह से महिला इन लोगों के साथ जुड़ी हुई थी। सिटी एसपी ने कहा कि अब तक कुल 77,00,000 रुपए बरामद हुए है। इसके साथ ही कई पासबुक जप्त किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.