केरल की जेल में बंद हैं झारखण्ड के 71 प्रवासी मजदूर

परिजनों ने उपायुक्त से लगाई रिहाई की गुहार
परिजनों ने उपायुक्त से लगाई रिहाई की गुहार

दुमका । केरल के जेल में बंद है झारखंड के 71 प्रवासी मजदूर। केरल के किटेक्स गारमेंट फैक्ट्री में काम करने वाले इन मजदूरों को 25 दिसंबर यानी किस्मत के रोज एर्नाकुलम जिले के किजाकम्बलम में भड़की हिंसा के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। हालांकि फैक्ट्री के निदेशक साबू जैकब ने पुलिस को लिखित रूप में जानकारी दी है कि यह मजदूर बेकसूर है।

इस घटना में एक सर्किल इंस्पेक्टर समेत 8 पुलिसकर्मी जख्मी हुए थे और उनकी गाड़ी में आग लगा दिया गया था। उसके बाद कुल 163 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इसमे दुमका जिले के 5 प्रवासी मजदूर भी शामिल है। उनके परिजनों ने आज डीसी को एक ज्ञापन देकर मुख्यमंत्री से इसमें हस्तक्षेप और मदद की गुहार लगाई है।

तीन प्रवासी मजदूरों के परिजनों ने लगाई गुहार
1.मार्टिन हांसदा- गांव सिमरा, पंचायत भटनीया,ब्लॉक जामा, दुमका
२.प्रदीप मुर्मू- गांव जामकन्दर,पंचायत राजबान्ध,दुमका और
3.चंदन मरांडी –  गांव जामकन्दर,पंचायत राजबान्ध,दुमका

बताया जा रहा है कि साहिबगंज जिले के सबसे ज्यादा प्रवासी मजदूर जेल में है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.