डिजिटल रिकॉर्ड: आधार कार्ड की तरह होगा हेल्थ एकाउंट, एक क्लिक पर डॉक्टर को मिल जाएगा मरीज का पूरा ब्योरा

पूर्वी सिंहभूम जिला स्वास्थ्य विभाग बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है। सबकुछ ठीक रहा तो अगले साल से जिले के मरीजों को प्रिस्क्रिप्शन व रिपोर्ट की फाइल लेकर नहीं घूमनी पड़ेगी। अब यूनिक काेड से मरीज या घायल की पूरी हेल्थ हिस्ट्री सामने आ जाएगी। जिले के सिविल सर्जन डाॅ. साहिर पाल ने इसके लिए ब्लूप्रिंट तैयार कर विभागीय अनुमति के लिए भेज दिया है।
एमजीएम अस्पताल प्रबंधन भी इस दिशा में पहल कर चुका है। सिविल सर्जन के अनुसार अगले तीन महीने में यह व्यवस्था जिले में लागू हो जाएगी। सीएस ने बताया कि इस व्यवस्था से एक क्लिक पर ड्यूटी डॉक्टर को पता चल जाएगा कि मरीज को पूर्व से कौन सी बीमारी है या उसका पूर्व से क्या इलाज चल रहा है। जैसे मरीज बीपी, सुगर, हार्ट, किडनी का मरीज हैं तो वह कौन सी दवाइयों का उपयोग कर रहा है। ब्लड ग्रुप व ब्लड प्रेशर आदि के बारे में भी पता लग सकेगा।
इससे मरीज का इलाज करने में डॉक्टर्स को आसानी होगी। यह मरीज का डिजिटल रिकार्ड होगा। डाॅ. पाल ने बताया कि इस सुविधा से ऐसे मरीजों या घायलों का इलाज करने में सदर व एमजीएम अस्पताल के डॉक्टर्स को सुविधा हो सकेगी, जो बेहोश हैं या गंभीर बीमार हैं तथा अपने बारे में बताने की स्थिति में नहीं है। हेल्थ एकाउंट 14 डिजिट का यूनीक आईडी होगा, जिसे डालते ही मरीज के हेल्थ के बारे में डॉक्टर को पता चल जाएगा। इसमें मरीज को यदि कोई पुरानी बीमारी है और जिसका इलाज चल रहा है, आदि के बारे में डिटेल आ जाएगी।
जिले के मरीजों को यह होगा फायदा
1 इलाज के लिए मरीजों को पुरानी रिपोर्ट या पर्ची आदि साथ में ले जाने की जरूरत नहीं। 2 मरीज का ब्लड ग्रुप, बीमारी या चल रही दवाइयों के बारे में जानकारी मिल सकेगी। 3 टेलीमेडिसीन, ई- फार्मेसी और पर्सनल हेल्थ रिकार्ड की सुविधा मरीजों को मिल सकेगी। 4 कार्ड को बीमा कंपनियों से भी जोड़ा गया है, जिसमें बीमा क्लेम मिल सकेगा।
Copyright © 2022-23 DB Corp ltd., All Rights Reserved
This website follows the DNPA Code of Ethics.

source
– (Ujjwal Duniya)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: